Kaala Kaarnaama Surender Mohan Pathak

ISBN:

Published:

Paperback

304 pages


Description

Kaala Kaarnaama  by  Surender Mohan Pathak

Kaala Kaarnaama by Surender Mohan Pathak
| Paperback | PDF, EPUB, FB2, DjVu, audiobook, mp3, ZIP | 304 pages | ISBN: | 9.65 Mb

डॉकटर राजदान अपने आप को हिपनोटिसट बताता था, उसका दावा था कि वो अपने उस अनोखे इलम के सदके किसी से भी अपनी मनमानी करवा सकता था. लाख रुपये का सवाल ये था कि कया वो किसी से कतल करवा सकता था?Moreडॉक्टर राज़दान अपने आप को हिपनोटिस्ट बताता था, उसका दावा था कि वो अपने उस अनोखे इल्म के सदके किसी से भी अपनी मनमानी करवा सकता था. लाख रुपये का सवाल ये था कि क्या वो किसी से कत्ल करवा सकता था?



Enter the sum





Related Archive Books



Related Books


Comments

Comments for "Kaala Kaarnaama":


happinesshealthycafefl.com

©2012-2015 | DMCA | Contact us